मंडी व्यापारियों की मनमानी। बरोठा से पत्रकार नितेश नागर की रिपोर्ट

0
155

मंडी व्यापारियों की मनमानी

बरोठा = बरोठा मंडी में सरकारी कर्मचारी बोली ना लगाते हुए व्यापारी स्वयं उपज की बोली लगाते हैं जिससे सीधा सीधा नुकसान किसान का है ,साथ ही दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों के द्वारा बिल्टी प्रदान की जा रही हैं । बरोठा मंडी में किसानों के लिए बनाए गए प्लेटफार्म शेड में व्यापारियों के द्वारा सभी शेड पर अपना माल रखा गया है । यदि किसान अपना माल मंडी में ले जाते हैं तो नीचे रोड पर डालना पड़ता है । मंडी अधिकारी के दौरे के बाद भी व्यापारियों के द्वारा किसानों के लिये शेड खाली नहीं किया गया। भारतीय किसान संघ के दिनेश चौधरी सत्यनारायण पटेल सर्वेश केलवा शेखर पटेल राजमल पटेल राजेंद्र पटेल मनोहर आदि ने कहा कि यदि सरकारी कर्मचारी के द्वारा किसानों की उपज की बोली लगाई जाती है तो किसान को उससे फायदा होगा यदि बरोठा मंडी में अधिकारी कर्मचारियों द्वारा जल्द समाधान समस्याओं का नहीं किया गया तो भारतीय किसान संघ द्वारा बरोठा मंडी अधिकारी कर्मचारी एवं व्यापारियों के खिलाफ बड़ा आंदोलन किया जाएगा। क्योंकि मंडी सचिव को इन समस्याओं से अवगत करवा दिया गया है लेकिन मंडी सचिव द्वारा इस ओर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दिया जा रहा है इससे यह लगता है कि मंडी अधिकारी कर्मचारी एवं व्यापारियों की मिलीभगत से बरोठा उप मंडी में व्यापारियों द्वारा किसानों के साथ धोखा किया जा रहा है। पूर्व में भी भारतीय किसान संघ के द्वारा बोली लगाने के लिए सरकारी कर्मचारी की मांग की गई लेकिन जीमेदर प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा इस ओर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दिया जा रहा है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here